समाचार
त्यौहारों, 5 अगस्त को देखते जम्मू-कश्मीर के डीजीपी ने सुरक्षाबलों को किया सतर्क

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने सुरक्षाबलों को त्यौहारों को देखते हुए आगामी 15 दिनों के दौरान किसी आपात स्थिति से निपटने के लिए सतर्क रहने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा, “आतंकवादी बकरीद, रक्षाबंधन, 5 अगस्त, स्वतंत्रता दिवस के दौरान हालात बिगाड़ने और हिंसक वारदातों को अंजाम देने की कोशिश कर सकते हैं।”

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस मुख्यालय में उच्चस्तरीय बैठक में दिलबाग सिंह ने कहा, “अगले 15 दिन त्यौहारों के हैं। ऐसे में पाकिस्तान और उसके एजेंट माहौल बिगाड़ने की कोशिश करेंगे। वह लोगों को भड़काने के लिए कई तरह के हथकंडे अपनाएँगे। जवानों को ऐसे हालात के प्रति जागरूक रहना होगा।”

डीजीपी ने आतंकरोधी अभियानों के सफल संचालन और कानून-व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने में पुलिस व अन्य संबंधित सुरक्षा एजेंसियों को सराहा। उन्होंने कहा, “अभी तक हम सावधान रहे हैं लेकिन ज़रा सी लापरवाही पूरी मेहनत को बेकार कर देगी। सभी महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों, संवेदनशील स्थानों, धर्मस्थलों, सुरक्षा शिविरों की सुरक्षा कड़ी की जाए। पंचायत व निकाय प्रतिनिधियों और मुख्यधारा की सियासत से जुड़े लोगों की सुरक्षा के लिए उचित कदम उठाएँ। सीसीटीवी से लैस बुलेट प्रूफ बंकरों का समुचित उपयोग करें।”

उन्होंने अधिकारियों को इस बात को सुनिश्चित करने को कहा कि ड्यूटी पर तैनात जवान हमेशा सतर्क रहें। उनका हथियार उनके पास हो और वह बुलेट प्रूफ जैकेट व पटका पहने हुए हों। कानून-व्यवस्था की स्थिति, आतंकी घटनाओं व अन्य संवेदनशील घटनाओं से जुड़े मामलों की रेकॉर्डिंग की जाए।