समाचार
जम्मू-कश्मीर प्रशासन संदिग्ध सरकारी कर्मियों की पहचान के लिए गठित करेगा एसटीएफ

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने बुधवार (21 अप्रैल) को उन सरकारी कर्मचारियों की पहचान करने के लिए एक स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) गठित करने का निर्णय लिया है, जो राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा हो सकते हैं।

एसटीएफ का नेतृत्व आपराधिक जाँच विभाग (सीआईडी) के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) करेंगे। साथ ही इसमें अन्य चार सदस्य भी होंगे।

जम्मू-कश्मीर सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग (जीएडी) के एक आदेश के अनुसार, टास्क फोर्स संविधान की धारा 311 (2) (सी) के तहत संदिग्ध गतिविधियों में शामिल कर्मचारियों पर कार्रवाई के लिए जाँच करेगी।

जम्मू-कश्मीर सरकार के आयुक्त सचिव मनोज कुमार द्वारा हस्ताक्षरित आदेश के अनुसार, टास्क फोर्स आवश्यकता पर ऐसे कर्मचारियों के रिकॉर्ड संकलित करेगा और उसे समिति को भेजेगा।

एसटीएफ जिन मामलों का उल्लेख करेगी वह समिति 2020 में सरकार द्वारा स्थापित की गई थी और यह जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में है। एसटीएफ को आवश्यकता के अनुसार, ऐसे अन्य कर्मचारियों की पहचान के लिए आतंकवादी निगरानी समूह (टीएमजी) के अन्य सजस्यों के साथ जुड़ने का अधिकार भी दिया गया है।