समाचार
जामिया मिल्लिया व दिल्ली केंद्रीय विश्वविद्यालयों में 99 सालों में पहली महिला कुलपति

गुरुवार (11 अप्रैल) को जामिया मिल्लिया इस्लामिया के आरंभ होने के 99 साल बाद वहाँ वाइस-चांसलर एक महिला को बनाया गया है। प्राध्यापिका नज़मा अख्तर को जामिया की कुलपति घोषित की गई है, इंडियन एक्सप्रेस  ने रिपोर्ट किया।

प्राध्यापिका नज़मा अख्तर जो राष्ट्रीय शैक्षिक योजना और प्रशासन संस्थान से हैं, यह दिल्ली के केंद्रीय विश्वविद्यालयों में से भी पहली महिला कुलपति हैं। नज़मा अख्तर विश्वविद्यालय की 16वीं कुलपति होंगीं और वह तलत अहमद की जगह लेंगीं। 

जामिया मिल्लिया के जन संपर्क अधिकारी अहमद अज़ीम ने बताया “यह शैक्षिक नेतृत्व के इतिहास में एक बहुत ही प्रगतिशील कदम है और यह जामिया मिल्लिया इस्लामिया के लिए गर्व की बात है। जामिया की पूरी बिरादरी ने इस निर्णय का स्वागत किया है और साथ दिया है”।

भारत के पूर्व राष्ट्रपति ज़ाकिर हुसैन, दिल्ली के पूर्व एलजी नजीब जंग, और प्रख्यात इतिहासकार मुशीरुल हसन जामिया के पूर्व कुलपति रह चुके हैं।