समाचार
सिंचाई विभाग की भूमि से अवैध कब्जे हटाने के लिए पूरे उत्तर प्रदेश में चलेगा अभियान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुआई वाली उत्तर प्रदेश सरकार में जल शक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह ने कहा, “राज्य के सिंचाई विभाग के अधीन आने वाली भूमि पर अवैध कब्जे को हटाने के लिए एक विशेष अभियान चलाया जाएगा।”

रिपोर्ट के अनुसार, प्रदेशभर के जिला मजिस्ट्रेटों के नेतृत्व में इस अभियान को आगे बढ़ाया जाएगा, जो 15 मार्च से शुरू होगा। एक महीने के भीतर अवैध कब्जे हटवाए जाएँगे। सोमवार को जल शक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह ने अवैध कब्जे वाली जमीनों की समीक्षा की।

लखनऊ और उसके आसपास सबसे पहले अवैध कब्जे हटाने के लिए अभियान चलाया जाएगा। लखनऊ में इस तरह के अवैध कब्जे की पहचान करने के बाद उन्हें सूचीबद्ध कर दिया गया है। हटाने से पहले उन्हें नोटिस दिया जाएगा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मल्लपुर (चिनहट) में और हैदर नहर के दोनों किनारों पर अवैध रूप से कब्जे हैं। लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने अधिकारियों के साथ बैठक कर कार्रवाई की योजना बनाई है। सिर्फ प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सिंचाई विभाग की 12.6015 हेक्टेयर भूमि पर कब्जा है। लखनऊ में 927 अवैध कब्जे चिह्नित किए गए हैं। विभाग की तरफ से कब्जेदारों के नाम भी वेबसाइट पर अपलोड किए गए हैं।