समाचार
कश्मीरी पंडितों की रक्षा कर रहे पुलिसकर्मियों की जैश आतंकवादियों ने की हत्या

संदिग्ध तौर पर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने चार जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवान, जो दक्षिण कश्मीर के शोपियां में कश्मीरी पंडित परिवारों की रक्षा कर रहे थे, को मार गिराया है, द इंडियन एक्सप्रेस  ने बताया।

कुछ हफ्तों में सुरक्षा बलों द्वारा दर्जनों इस्लामिक आतंकवादियों को मार गिराए जाने के बाद कश्मीर घाटी में आतंकवादियों का यह पहला हिंसात्मक जवाब है। आतंकवादियों ने शोपियां जिले में ज़ैनापोरा क्षेत्र का सुरक्षा घेरा, जो बचे हुए अल्पसंख्यक कश्मीरी पंडित परिवारों की सुरक्षा के लिए नियुक्त था, पर निशाना साधा। आतंकवादी मारे गए पुलिसकर्मियों के पास से चार हथियारों को लेकर भाग गए। ये पुलिसकर्मी- अब्दुल माजीद, मेहराजुद्दीन, अनीस और हमीदुल्लाह मूल रूप से कश्मीर के ही निवासी थे।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, आतंकवादी सुरक्षा घेरे में घुसकर अंधाधुंध गोलियाँ चलाने लगे जिसमें तीन पुलिसकर्मियों की तत्काल मृत्यु हो गई और चौथा पुलिसकर्मी बुरी तरह घायल होकर अस्पताल पहुँचा जहाँ उनकी भी मौत हो गई।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्लाह और पीडीपी नेता मेहबूबा मुफ्ती ने इस हमले की निंदा की। साथ ही मेहबूबा ने राहत की साँस लेते हुए कश्मीरी पंडित परिवारों के सुरक्षित होने की बात कही।