समाचार
जयपुर- सात वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म के आरोपी सिकंदर ने किए हैं कई यौन अपराध

जयपुर के शास्त्रीनगर क्षेत्र में सात साल की एक बच्ची के साथ बलात्कार करने के 5 दिन बाद आरोपी सिकंदर उर्फ ​​जीवनू को आखिरकार गिरफ्तार कर लिया गया। इस घटना को लेकर व्यापक रूप से विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं।

द हिंदू  की रिपोर्ट के अनुसार, इलाके में तनाव बढ़ने के कारण पुलिस ने शनिवार को कोटा में 35 वर्षीय सिकंदर को गिरफ्तार कर लिया। वह 5 दिनों तक छिपे रहने के बाद एक परिचित से मिलने के लिए कोटा गया था।

आरोपी बच्ची को 1 जुलाई की रात उसके घर से बाइक से सुनसान जगह पर ले गया था। बाद में बच्ची को उसके घर के पास फेंक दिया था। पीड़िता की नाज़ुक हालत को देखते हुए उसे सर पदमपत मदर एंड चाइल्ड हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था, जहाँ अब उसकी स्थिति में सुधार है।

आरोपी सिकंदर को 2004 में अप्राकृतिक यौन संबंध और 11 वर्षीय लड़के की हत्या का दोषी पाया गया था। उसे इस मामले में आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई थी। पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक, 2015 में जेल से रिहा होने के बाद उसने कथित रूप से 2017 में जयपुर के भट्टा बस्ती क्षेत्र में दो नाबालिग लड़कियों से छेड़छाड़ सहित कई अपराध किए थे।

जयपुर के पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने कहा, “2004 में दोषी ठहराए जाने से पहले और बाद में आरोपी सिकंदर 10 अपराधों में शामिल था। उससे पूछताछ में इस बात का भी पता लगाया जाएगा कि क्या वह 22 जून को उसी इलाके में एक दूसरी चार साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म की एक और घटना का जिम्मेदार था।”

आरोपी पर बाइक चोरी करने, दुकानों में चोरी करने, एक पुलिस अधिकारी पर हमला करने और पुलिस हिरासत से भागने के भी आरोप लगे हैं।