समाचार
आईटीबीपी ने एलएसी के साथ चीन पर निगरानी के लिए तैयार की हमलावर कुत्तों की टीम

हमलावर कुत्तों की एक नई इकाई भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के जवानों के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर गश्त की ड्यूटी पर जा सकती है। इन हमलावर कुत्तों के पहले बैच को आईटीबीपी ने तैयार किया है।

काम के लिए खच्चर और घोड़ों की कंपनी होने के बाद आईटीबीपी अब इन क्षेत्रों में सतर्कता के लिए हमलावर कुत्तों का दल भी रखेगा।

बल की सहायता के लिए हमलावर कुत्तों को चार समूहों में काम करने के लिए प्रशिक्षित किया गया है। रिपोर्ट में आईटीबीपी के एक अधिकारी के हवाले से बताया गया कि यह दल भोटिया डॉग का भी पता लगा सकता है।

एक अधिकारी के हवाले से कहा गया, “हमलावर कुत्तों को शामिल करने वाला यह पहला अर्धसैनिक बल है। यह दुनिया का पहला ऐसा दल होगा, जिसके पास चार समूहों में हमला करने वाले कुत्ते होंगे। अगर इसकी स्वीकृति दी जाती है तो यह एलएसी में कुत्तों की अपनी तरह की पहली तैनाती होगी।”

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट कहती है, “हमलावर कुत्तों की नई टीम में मलिनसिन और जर्मन शेफर्ड नस्ल के कुत्ते शामिल किए गए हैं। इसमें पहली बार में कुल 30 कुत्तों को प्रशिक्षित करने का प्रस्ताव दिया गया है। हरियाणा के पंचकुला में आईटीबीपी अकादमी में तैयार हुई यह पहली इकाई को जल्द ही तैनात के लिए भेजा जाएगा।