समाचार
आयकर विभाग को 75 करोड़ की बेनामी संपत्ति का डी के शिवकुमार से मिला संबंध

कर्नाटक के जल संसाधन मंत्री डी के शिवकुमार के खिलाफ चल रहे अनुपातहीन संपत्ति के मामले में आयकर विभाग ने उनकी 75 करोड़ की संपत्ति को बेनामी संपत्ति में जोड़ा है। कर्नाटक में ऐसा पहली बार हुआ है कि बेनामी लेनदेन अधिनियम, 1988 के तहत किसी मंत्री की संपत्ति का संबंध पाया गया है।

आयकर विभाग की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार इस वर्ष फरवरी तक आयकर विभाग के अधिकारियों ने 7098.32 करोड़ रुपये की अघोषित आय का पता लगाया है जिसमें से मूल्यांकनकर्ताओं ने 4711.54 करोड़ रुपये की अघोषित आय को स्वीकारा है।

विभाग ने बताया कि 2018-19 की जाँच-पड़ताल के दौरान फिल्म उद्योग, खनन, नैदानिक ​​प्रयोगशालाओं, शहर-आधारित बहुराष्ट्रीय कंपनियों और कैबिनेट मंत्रियों को घेरे में लिया गया। साल भर में आयकर विभाग ने 235 प्रावधानिक संबंध स्थापित किए हैं जिसमें 389 करोड़ रुपये की संपत्ति और लगभग 200 एकड़ ज़मीन शामिल है। 

अब तक आयकर विभाग 92 बेनामीदार और 36 लाभार्थियों की पहचान करने में सफल रहा है जिसमे डी के शिवकुमार की  है। आपको बता दें कि 2017 में छापेमारी में  दिल्ली और बैंगलोर से लगभग 20 करोड़ रुपये नकद जब्त किए थे जिसका कोई भी हिसाब नहीं था। पता लगाने पर वह धन राशि भी डी के शिवकुमार पाई गई।