समाचार
इसरो का सफल प्रक्षेपण- कार्टोसैट-3, 13 छोटे अमेरिकी उपग्रह पहुँचे निर्धारित कक्षाओं में

तय समय के अनुसार बुधवार (27 नवंबर) सुबह 9.28 बजे इसरो ने श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के दूसरे लॉन्च पैड से प्रक्षेपित किया। पीएसएलवी-सी47 के द्वारा कार्टोसैट-3 और यूएसए के 13 छोटे उपग्रह अंतरिक्ष में भेजे गए।

9.50 पर कार्टोसैट-3 अंतरिक्ष वाहन को निर्धारित कक्षा में छोड़ दिया गया। इसके 6 मिनट बाद तक यूएसए की सभी 13 व्यवसायिक सैटेलाइटों को भी निर्धारित कक्षाओं में पहुँचा दिया गया।

जिस रॉकेट से प्रक्षेपण किया गया है, वह पीएसएलवी का एक्सएल मॉडल है। यह पहले 25 नवंबर को लॉन्च होने वाला था लेकिन इसरो ने जानकारी दी थी कि इसे 27 नवंबर तक टाल दिया गया है।

गौरतलब है कि कार्टोसैट-3 तीसरी पीढ़ी का तेज़ एवं चपल उपग्रह है जिसमें उच्च स्तर की सटीक तस्वीरें लेने की क्षमता है। इसरो के अनुसार इस उपग्रह को 97.5 डिग्री के झुकाव पर 509 किलोमीटर की कक्षा में रखा गया है।

इसरो के मुताबिक जिन 13 छोटे अमेरिकी उपग्रहों को प्रक्षेपित किया गया है, वे सभी हाल ही में अंतरिक्ष विभाग के अंतर्गत स्थापित की गई नई इकाई न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (एनएसआईएल) की वाणीज्यिक व्यवस्था का हिस्सा हैं।