समाचार
बेंजामिन नेतन्याहू गठबंधन बनाने में असफल, इज़राइल में फिर होंगे आम चुनाव

इज़राइल में 17 सितंबर को फिर से आम चुनाव होंगे। मार्च में हुए चुनावों में प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की लिकुड पार्टी ने सबसे ज्यादा सीटें हासिल जरूर की थीं लेकिन वो छह हफ्ते बाद भी दूसरी पार्टियों के साथ गठबंधन बनाने में नाकाम रही।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को सरकार बनाने में देरी होने होने की वजह से संसद भंग करने का प्रस्ताव पारित कर दिया गया था। इज़राइल के इतिहास में पहली बार है कि प्रधानमंत्री पद के लिए चुना गया कोई नेता गठबंधन बनाने में नाकाम रहा हो।

गठबंधन के आसार न बनते दिखने के बाद संसद को भंग करने का प्रस्ताव रखा गया। इसमें 120 में से 119 सांसदों ने वोटिंग में हिस्सा लिया। 74 ने संसद को भंग करने के लिए मतदान किया तो 45 ने उनके विरोध में।

मालूम हो कि अप्रैल में हुए चुनाव में प्रधानमंत्री नेतन्याहू की पार्टी को 35 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। वहीं, दूसरी दक्षिणपंथी पार्टी ब्लू एंड वाइट को एक कम यानी 34 सीटें मिली थीं। अब चुनाव होने तक बेंजामिन ही देश के प्रधानमंत्री रहेंगे।