समाचार
ज़ाकिर नाइक ने कहा, ‘तब तक भारत वापस नहीं लौटूँगा, जब तक सत्ता में भाजपा रहेगी’

विवादास्पद इस्लामवादी उपदेशक ज़ाकिर नाइक तब तक भारत वापस नहीं लौटना चाहते हैं, जब तक सत्ता में भाजपा सरकार काबिज़ है। उन्होंने पिछली सरकार में स्थितियाँ बेहतर होने और वर्तमान में अपने लौटने के लिए परिस्थितियाँ अनुकूल न होनी बताई हैं।

द वीक को दिए एक साक्षात्कार में नाइक ने कहा, “भारत में भाजपा के आने से पहले आप सरकार के खिलाफ बात कर सकते थे। कम से कम आपको 80 प्रतिशत न्याय मिलने की उम्मीद रहती थी लेकिन आज यह संभावना केवल 10 से 20 प्रतिशत ही रह गई है।”

उन्होंने देश में सरकार बदलने के बाद भारत लौटने के प्रश्न पर कहा, “हाँ, निश्चित रूप से ऐसे में मेरी वापसी की संभावना बहुत अधिक है।”

उन्होंने कहा, “आज हर कोई अपने फायदे के लिए कुछ कह रहा है। मुझे कांग्रेस में बुराइयाँ कम नजर आती हैं। अगर सत्ता में फिर से भाजपा सरकार की वापसी हुई तो मैं देश और मुसलमानों को लेकर चिंतित रहूंगा।”

बीते कुछ वर्षों में कई आतंकी हमलों को प्रेरित करने के प्रश्न पर इस्लाम धर्म के प्रचारक ने कहा, “मैंने कभी किसी को लोगों को मारने के लिए प्रेरित नहीं किया है। कोई अगर ऐसा कह रहा है तो वो झूठ बोल रहा है।”

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ज़ाकिर नाइक के खिलाफ आतंक और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जाँच कर रही है। अपने ऊपर शिकंजा कसने के बाद 2016 में नाइक ने भारत छोड़ दिया था और मलेशिया में जाकर रहने लगे। उन पर कथित तौर पर इस्लाम के नाम पर नफरत भरे भाषणों से युवाओं को आतंकवाद के लिए उकसाने का आरोप है।