समाचार
सेवानिवृत आईपीएस अधिकारी ने की आत्महत्या; ममता बेनर्जी पर लगाया आरोप

19 फरवरी (मंगलवार) को 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी गौरव दत्त की लाश उन्हीं के घर में पाई गई, खुदखुशी से पहले लिखे एक नोट में दत्त ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी को उनके इस कदम के लिए दोषी ठहराया।
गौरव दत्त ने पिछले साल अपनी मर्ज़ी से सेवनिवर्ति ली थी। गौरव दत्त के पिता पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के सुरक्षा अधिकारी रह चुके हैं।
गौरव दत्त ने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि “मेरी इस आत्महत्या में मुख्यमंत्री का हाथ है”।
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए, दत्त ने लिखा कि “सीएम ने मेरे दो लंबित मामलों को बंद करने से इंकार कर दिया। जिनमें से एक मामले की फाइल पश्चिम बंगाल सरकार ने जान-बूझकर खो दी और दूसरे में कोई भी भ्रष्टाचार के आरोप की पुष्टि हो सकती थी। हालांकि डीजी ने सीएम से मामलों को बंद करने कि दरख्वास्त कि पर उन्हें भी इनकार कर दिया गया।

दत्त ने ममता बेनर्जी पर आरोप लगाते हुए कहा कि मुझे 10 साल तक प्रताड़ित किया गया है, सरकार ने मेरी मेहनत से कमाई की कमाई को भी अवरुद्ध कर रखा है, अब मेरे जाने के बाद सरकार को मेरी जमा पूंजी छोड़नी ही पड़ेगी।
“अगर कोई व्यक्ति सम्मान से जी नहीं तो अच्छा है कि वह सम्मान से मर जाए”, दत्त ने अपने पत्र में लिखा।