समाचार
आमंत्रण और अपमान? सार्क सम्मेलन में पीओके मंत्री की उपस्थिति पर विरोध

दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) की मीटिंग में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के मंत्री मोहम्मद सईद की उपस्थिति का विरोध जताते हुए, भारतीय राजनयिक शुभम सिंह ने वॉकआउट कर दिया, जैसा कि द ट्रिब्यून  की रिपोर्ट में बताया गया।

गौरतलब है कि सन् 1948 में हस्ताक्षरित, विलय के दस्तावेजों के अनुसार, कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है। वहीं कुछ हिस्सों पर पाकिस्तान ने गैरकानूनी तरीके से कब्ज़ा कर रखा है।

उल्लेखनीय है कि सन् 2016 में उरी में भारतीय सेना के कैम्प पर हमले का विरोध जताते हुए, भारत ने 19 वें सार्क सम्मेलन में शामिल नहीं होने का निश्चय किया था। भारत का समर्थन करते हुए, भूटान, बांग्लादेश तथा अफगानिस्तान ने भी शामिल होने से मना कर दिया था। इसके बाद यह सम्मेलन रद्द कर दिया गया था।

हाल ही में सितम्बर माह में, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने, भारत के प्रधानमंत्री मोदी के समक्ष दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की न्यूयॉर्क में मुलाकात तथा वार्ता आरंभ करने का प्रस्ताव रखा था। किन्तु जम्मू- कश्मीर के पुलिसकर्मियों की बर्बरता से हत्या किए जाने के बाद तथा पाकिस्तान में आतंकी बुरहान वानी की तस्वीर डाक-टिकटों पर छापने तथा उसकी छवि को शहीद के रूप में प्रस्तुत करने के बाद इमरान का यह प्रस्ताव तीव्र विषमता का विषय बन गया था।