समाचार
सेना से ड्रोन ऑर्डर मिलने के बाद इंफोसिस-समर्थित आइडियाफोर्ज ने जुटाए ₹15 करोड़

मुंबई स्थित कंपनी आइडियाफोर्ज ने उद्यम ऋण कंपनी ब्लैकसोल से 15 करोड़ रुपये जुटाए हैं। दरअसल, ड्रोन निर्माता कंपनी को हाल ही में अपने स्विच यूएवी (मानव रहित हवाई वाहन) के लिए भारतीय सेना से दो करोड़ डॉलर का ऑर्डर मिला था।

इंक42 की रिपोर्ट के अनुसार, स्विच वर्टिकल टेकऑफ और लैंडिंग (वीटीओएल) ड्रोन है, जो अधिक ऊँचाई पर उड़ने की उन्नत क्षमताओं के साथ कठिन जलवायु परिस्थितियों में दिन और रात निगरानी करने में सक्षम है। कंपनी की योजना है कि वित्तपोषण का उपयोग भारतीय सेना की ओर से मिले बड़े ऑर्डर को पूरा करने के लिए किया जाए।

नवीनतम निवेश की घोषणा करते हुए इंफोसिस ने अपनी विनियामक फाइलिंग में कहा, “आइडियाफोर्ज के यूएवी सिस्टम तेजी से संगठनों के एक व्यापक स्पेक्ट्रम में उपयोग किए जा रहे हैं। इंफोसिस के कई ग्राहकों ने भी यूएवी सिस्टम को अपनाया है क्योंकि वे तेजी से डिजिटल हो जाते हैं। निवेश का उद्देश्य अनुसंधान एवं विकास, बिक्री, विपणन, व्यवसाय विकास और आइडियाफोर्ज की कार्यशील पूंजी की आवश्यकताओं पर उपयोग किया जाना है।”

आइडियाफोर्ज की स्थापना 2008 में पाँच आईआईटी बॉम्बे के स्नातकों अंकित मेहता, आशीष भट, राहुल सिंह, विपुल जोशी और अमरदीप सिंह ने की थी। भारतीय और अंतरराष्ट्रीय बाजार में 15 से अधिक वर्षों के अनुसंधान और विकास (आरएंडडी) और 20 से अधिक पेटेंट के साथ कंपनी ने पूरी तरह से स्वायत्त यूएवी और ड्रोन की एक बड़ी रेंज बनाई। यह कंपनी अपनी स्थापना के बाद से 1,000 से अधिक ड्रोनों को बेचने का दावा करती है।