समाचार
छह स्थानों की छलांग लगाकर भारत श्रेष्ठ यात्रा और पर्यटन सूचकांक में विश्व में 34वाँ देश

भारत ने यात्रा और पर्यटन प्रतिस्पर्धात्मकता सूचकांक में पिछले साल की तुलना में इस वर्ष सराहनीय स्थान दर्ज किया है। भारत को विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक रिपोर्ट में 34वाँ स्थान प्राप्त हुआ है। यह 2017 तक 40 की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग के बाद छह रैंक की बढ़ोतरी है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई  की रिपोर्ट के अनुसार, 2013 में भारत 65वें स्थान पर था, जो 2015 में बढ़कर 52 पर आ गया। इसके बाद 2017 में रैंकिंग में 12 स्थान के सुधार के साथ 40वें स्थान पर पहुँचा।

विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि दक्षिण एशिया के प्रमुख देश भारत में पर्यटन जीडीपी का एक बड़ा हिस्सा है। भारत में पर्यटन के क्षेत्र पहले से ज्यादा और निरंतर विकास हुआ है।

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि भारत में 1.5 करोड़ से अधिक अंतर्राष्ट्रीय पर्यटक पहुँचे जो कुल यात्रा और पर्यटन उद्योग का 3.6 प्रतिशत हिस्सा है। उप-श्रेत्रीय दृष्टिकोण से भारत में बेहतर हवा (33वाँ स्थान), मैदान और पोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर (28वाँ स्थान), अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खुलापन (51वाँ स्थान), प्राकृतिक (14वाँ स्थान), सांस्कृतिक संसाधन (8वाँ स्थान) व प्रतिस्पर्धात्मक मूल्य (13वाँ स्थान) हैं।