समाचार
आठ बुनियादी उद्योगों के सूचकांक में गत वर्ष की गिरावट के विपरीत 56% की वृद्धि

अप्रैल 2021 के आठ बुनियादी उद्योगों (ईसीआई) के सूचकांक ने गत वर्ष के इसी माह के दौरान उत्पादन में 37.9. प्रतिशत की गिरावट दर्ज की थी। इसकी अपेक्षा इस बार इनमें 56 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि देखी गई है।

आधार प्रभाव के कारण भारत के आठ बड़े उद्योगों के उत्पादन ने गत माह आसमान छू लिया था। क्रमिक आधार पर आठ बड़े उद्योगों का उत्पादन मार्च 2021 में 11.4 प्रतिशत बढ़ा था।

ईसीआई सूचकांक में औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में शामिल वस्तुओं का भारांश 40.27 प्रतिशत है। इन उद्योगों में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और विद्युत शामिल हैं।

क्षेत्रवार देखें तो कोयले का उत्पादन, जिसका सूचकांक में भारांश 10.33 प्रतिशत है, ने अप्रैल 2021 में गत वर्ष के इसी माह की तुलना में 9.5 प्रतिशत की वृद्धि दिखाई।

इसी प्रकार रिफाइनरी उत्पादों का उत्पादन, जिसका भारांश 28.04 है, गत वित्त वर्ष के इसी माह के मुकाबले 30.9 प्रतिशत बढ़ा। विद्युत उत्पादन, जिसका दूसरा सबसे अधिक भारांश 19.85 है, में 38.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई। वहीं गत माह इस्पात उत्पादन में 400 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।