समाचार
विदेशी मुद्रा भंडार रिकॉर्ड स्तर पर, सोने के भंडार में भी 12 प्रतिशत की वृद्धि

देश में विदेशी मुद्रा भंडार पिछले सप्ताह के 476 बिलियन डॉलर के मुकाबले छलांग लगाते हुए 481 बिलियन डॉलर के उच्च स्तर पर पहुँच गया है।

फाइनेंशियल एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, यह भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि देश के सोने के भंडार में गत दो महीनों में 12 प्रतिशत से अधिक की बढ़ोतरी देखी गई है। यह आँकड़ा दिसंबर 2019 के 27.4 बिलियन डॉलर से फरवरी के अंत तक 30.7 बिलियन डॉलर तक पहुँच गया था।

रुपये के लिहाज से विदेशी मुद्रा भंडार 34.75 लाख करोड़ रुपये के आँकड़े तक पहुँच गया है। इसमें 2.2 लाख करोड़ रुपये का निवेश स्वर्ण भंडार द्वारा किया गया है। इसी बीच, बाकी का एक बड़ा हिस्सा विदेश मुद्रा पूंजी द्वारा बनाया गया है, जो कि 32.2 लाख करोड़ रुपये है।

राष्ट्र के विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि का एक खास महत्व है। दरअसल, ये आपात स्थिति और आकस्मिक वक्त पर बैक फंड के रूप में काम आते हैं। इनका उपयोग आर्थिक संकट या विदेशी दायित्व के समय में सुगमता बनाए रखने के लिए किया जाता है।