समाचार
भारतीय रेलवे ने बोस की जयंती से पूर्व हावड़ा-कालका मेल का नाम नेताजी एक्सप्रेस किया

स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती से पूर्व भारतीय रेलवे ने हावड़ा-कालका मेल का नाम बदलकर नेताजी एक्सप्रेस रखने का निर्णय किया।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बुधवार (20 जनवरी) को ट्वीट किया, “नेताजी के प्राकट्य ने भारत को स्वतंत्रता और विकास के एक्सप्रेस मार्ग पर आगे बढ़ाया था। मैं नेताजी एक्सप्रेस की शुरुआत के साथ उनकी जयंती मनाने के लिए रोमांचित हूँ।”

मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में कहा कि यह गौर किया जाना चाहिए कि हावड़ा-कालका मेल एक बहुत लोकप्रिय और भारतीय रेलवे की सबसे पुरानी ट्रेनों में से एक है। यह दिल्ली के माध्यम से हावड़ा (पूर्वी रेलवे) और कालका (उत्तर रेलवे) के बीच संचालित होती है।

इससे पूर्व, मंगलवार (19 जनवरी) को नरेंद्र मोदी सरकार ने नेताजी के जन्मदिवस 23 जनवरी को पराक्रम दिवस के रूप में हर वर्ष राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाने का फैसला किया था।

मंगलवार को जारी एक अधिसूचना में संस्कृति मंत्रालय ने कहा था कि भारत के लोग नेताजी सुभाष चंद्र बोस को उनकी 125वीं जयंती वर्ष में इस महान देश के लिए दिए अपने अभूतपूर्व योगदान के लिए याद करेंगे। नेताजी का जन्मदिन 2021 से हर वर्ष राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शानदार ढंग से मनाया जाएगा।