समाचार
भारतीय रेलवे ने 13 राज्यों को 10,000 टन से अधिक तरल चिकित्सा ऑक्सीजन पहुँचाई

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने एक प्रेसवार्ता में बताया कि भारतीय रेलवे सोमवार (17 मई) सुबह तक 160 ऑक्सीजन एक्सप्रेस पर 10,000 टन तरल चिकित्सा ऑक्सीजन (एलएमओ) ले जाने के कीर्तिमान को पार कर गया।

ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने पश्चिम में हापा व मुंद्रा और पूर्व में राउरकेला, दुर्गापुर, जमशेदपुर व अंगुल जैसे स्थानों से लेकर 13 राज्यों में 600 से अधिक टैंकरों में 10,300 टन ऑक्सीजन पहुँचाई है।

सुनीत शर्मा ने कहा, “भारतीय रेलवे कुछ चुनौतियों का सामना करते हुए अभियान चला रहा। चक्रवात (ताउ ते) के बावजूद रेलवे ने आज सुबह गुजरात से दो ऑक्सीजन एक्सप्रेस 150 टन ऑक्सीजन देने के लिए चलाई। इनमें से एक वडोदरा से सुबह 4 बजे दो आरओ-आरओ ट्रक और 45 टन एलएमओ लेकर दिल्ली क्षेत्र में आपूर्ति के लिए रवाना हुई। दूसरी, हापा से सुबह 5.30 बजे 106 टन ऑक्सीजन से लदे 6 टैंकरों को लेकर उत्तर प्रदेश और दिल्ली के क्षेत्र के लिए रवाना हुई।”

पंजाब को पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस सोमवार (17 मई) शाम 7 बजे फिल्लौर में 41.07 टन ऑक्सीजन के दो टैंकरों के साथ मिली। रेलवे ने अब तक दिल्ली में 3,734 टन, उत्तर प्रदेश में 2,652 टन, महाराष्ट्र में 521 टन, हरियाणा में 1,290 टन और तेलंगाना में 564 टन एलएमओ की आपूर्ति की है।

शर्मा ने कहा, “रेलवे 1005 मेल-एक्सप्रेस ट्रेनें, 3893 उपनगरीय, 517 यात्री ट्रेनें चला रहा है। उनके भरने की क्षमता के आधार पर ट्रेनों को युक्तिसंगत बनाया जा रहा है। रेलवे ने अपने 4.32 लाख कर्मचारियों का टीकाकरण किया है। वहीं, शेष कर्मचारियों का टीकाकरण किया जा सके, इसके लिए वे राज्य सरकारों के संपर्क में हैं।”

उन्होंने यह भी कहा, “भारतीय रेलवे ने राज्य सरकारों के अनुरोध पर 348 आइसोलेशन कोच तैनात किए थे। ये दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, असम, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, नागालैंड और त्रिपुरा को मुहैया कराए गए हैं।”