समाचार
पारंपरिक कारीगरों के प्रोत्साहन के लिए रेलवे का प्रयास- खादी आयोग से करेगा क्रय

कारीगरों को लाभ पहुँचाने के लिए रेलवे बोर्ड ने सभी ज़ोन को निर्देश दिए हैं कि वे कपड़ा और लिनेन वस्तुएँ खादी और ग्रामीण उद्योग आयोग (केवीआईसी) से ही खरीदें, इंडियन एक्सप्रेस  ने रिपोर्ट किया।

इससे पहले रेलवे ने वाराणसी और राय बरेली के केटरर्स से रेलवे स्टेशन पर ग्राहकों को भोजन परोसने के लिए टेराकोटा के कुल्हड़, ग्लास और प्लेट स्थानीय कारीगरों से खरीदने के निर्देश दिए थे।

रेलवे बोर्ड ने 17 जनवरी को निर्देश जारी किया जिसमें बेडशीट, तकिये का खोल और तौलिया जैसी लिनेन वस्तुओं की खरीद में केवीआईसी को प्रथमिकता देने की बात कही और उसके बाद दूसरी वरीयता पर हैंडलूम संगठन (अकैश) को रखने का निर्देश दिया।

ऑर्डर में कहा गया कि ज़ोनल रेलवे दूरी कंपनियों से तब ही संपर्क करे जब ये दोनों आवश्यकता की पूर्ति करने में अक्षम हों।