समाचार
भारतीय अर्थव्यवस्था में लौटेगी रौनक, 2022 में विकास दर होगी 8.5% तक- बार्कलेज़

बार्कलेज़ के पास भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए कुछ सकारात्मक खबरें हैं। उन्होंने अर्थव्यवस्था में 7 प्रतिशत की उछाल के अपने पिछले पूर्वानुमान को बदलते हुए 2022 के लिए वित्तीय विकास की दर 8.5 प्रतिशत बताई है। वित्तीय सेवा कंपनी ने भविष्यवाणी की कि गिरने वाले कोविड-19 मामले यह सुनिश्चित करेंगे कि देश उम्मीद से पहले सामान्य रूप से वापस आएगा।

इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटिश बहुराष्ट्रीय कंपनी ने खुलासा किया, “निकट भविष्य में एक प्रभावी वैक्सीन की उम्मीद और बड़ी आबादी में एंटीबॉडी होने के चलते अर्थव्यवस्था में सुधार की उम्मीद बढ़ी है।”

बार्कलेज़ ने चालू वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी में 6.4 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान लगाया था। हालाँकि, उसने पहले 6 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान लगाया था। इसने दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में जीडीपी के 8.5 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान लगाया है, जो आरबीआई के अनुमान के लगभग समान ही है। पिछले सप्ताह भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने जुलाई-सितंबर तिमाही में जीडीपी के 8.6 प्रतिशत तक गिरावट का अनुमान लगाया था।

आरबीआई ने चौथी तिमाही में भारत की सकारात्मक जीडीपी वृद्धि का गवाह बनने के लिए भविष्यवाणी की है। हालाँकि, बार्कलेज़ ने वर्तमान वित्तीय वर्ष की तीसरी तिमाही से ऐसा होने का अनुमान लगाया है। हर तरह से भारत एक मजबूत आर्थिक प्रतिक्षेप की ओर बढ़ता दिख रहा है क्योंकि देशव्यापी सख्त और लंबे लॉकडाउन के कारण बंद रहने वाले कारोबार अब खुल गए हैं।