समाचार
भारतीय सेना को मिली 12 स्वदेशी छोटी पुल प्रणालियाँ, पश्चिमी सीमाओं पर होगा संचालन

भारतीय सेना को आज (2 जुलाई) स्वदेशी रूप से विकसित 12 लघु लंबाई पुल प्रणालियाँ सिस्टम प्राप्त हुईं। ये छोटी नदियों और नहरों जैसी बाधाओं को पार करने में सेना की सहायता करेंगी। 10-10 मीटर के ये छोटे पुल पाकिस्तान से सटी पश्चिमी सीमाओं पर संचालन के लिए होंगे।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरावणे ने दिल्ली कैंट में कोर ऑफ इंजीनियर्स को ये उपकरण सौंपें। इनका मूल्य 492 करोड़ रुपये से अधिक है।

अधिकारियों ने बताया कि इस प्रणाली को डीआरडीओ के साथ भारतीय सेना के अभियंताओं ने डिज़ाइन किया है व लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड द्वारा इसे निर्मित किया गया है। ये पुल विभिन्न प्रकार की जल बाधाओं पर 70 टन तक टैंक ले जाने में सक्षम हैं।

उन्होंने आगे कहा, “यह कोर ऑफ इंजीनियर्स की वर्तमान सेतु क्षमता में कई गुना वृद्धि करता है। साथ ही हमारे पश्चिमी विरोधी के साथ भविष्य के किसी भी संघर्ष में मशीनीकृत संचालन में एक प्रमुख भूमिका निभा सकता है। इससे बड़ी सरलता से जल बाधाओं को पार किया जा सकता है और दुश्मनों की गतिविधि का समय पर उत्तर दिया जा सकता है।”