समाचार
एमएम नरवाणे की यात्रा के चित्रों में दिखी चीन के विरुद्ध सेना की चुशूल क्षेत्र में टैंक तैनाती

भारतीय सेना ने बुधवार (23 दिसंबर) को सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवाणे की फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स के अग्रिम क्षेत्रों के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) की प्रत्यक्ष रूप से समीक्षा के लिए हुई यात्रा की तस्वीरें जारी कीं।

वरिष्ठ रक्षा पत्रकार शिव अरूर के अनुसार, ये तस्वीरें स्पष्ट रूप से टैंक तैनाती के तत्वों को दर्शाती हैं, जिन्हें जुलाई से भारतीय सेना द्वारा तैनात किया गया है।

पहले यह बताया गया था कि भारतीय सेना ने अपने टी-90 और टी-72 टैंकों को बीएमपी-2 इन्फैंट्री कॉम्बैट व्हीकल्स के साथ एलएसी पर चीन से तनाव के बीच तैनात किया है।

इसने इन टैंकों का एक वीडियो भी साझा किया था।

ये लड़ाकू वाहन माइनस 40 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान में काम करने में सक्षम हैं। इस क्षेत्र में सर्दियों की शुरुआत के बीच के इनका बेहद महत्व है।

जनरल एमएम नरवाणे बुधवार (23 दिसंबर) को फायर और फ्यूरी कॉर्प्स की एक दिन की यात्रा के लिए लेह पहुँचे। इस दौरान उन्होंने रेचिन ला समेत अग्रिम मोर्चों का जायजा लिया। वहाँ उन्हें जीओसी, फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स और अन्य स्थानीय कमांडरों द्वारा सेना की परिचालन तैयारियों पर जानकारी दी गई।

उन्होंने रेचिन ला में अग्रिम पंक्ति पर तैनात सैनिकों की स्थिति का निरीक्षण किया। उन्होंने एलएसी के साथ सैनिकों को सहज बनाने के लिए किए गए प्रयासों की सराहना की।