समाचार
भारतीय वायुसेना का अहम सौदा, चंडीगढ़ एयरबेस में जुड़ेंगे चार चिनूक हेलीकॉप्टर

भारतीय वायुसेना 25 मार्च तक चार चिनूक रणनीतिक भारी-लिफ्ट हेलीकॉप्टर को अपने एयरबेस में शामिल करने के लिए तैयार है। अपेक्षा है कि इस कार्यक्रम की अध्यक्षता करने के लिए रक्षा मंत्री निर्मला सितारमन भी चंडीगढ़ में उपस्थित रहेंगी। 

भारतीय वायुसेना में शमिल होने वाले यह भारी लिफ्ट हेलीकॉप्टर सेना, तोपें और अन्य भारी सामानों को उठा कर सीमा पर ले जाने में मदद करेंगे। यह चार चिनूक हेलीकॉप्टर चंडीगढ़ स्थित वायुसेना स्टेशन में शामिल होंगे जहाँ से ऊँचाई वाले स्थानों तक सामान भेजने का काम किया जाता है।

चिनूक हेलीकॉप्टर का पहला बैच 10 फरवरी को गुजरात के मुद्रा बंदरगाह पर पहुँच गया है। वर्तमान में भारतीय वायुसेना के पास कुल 15 चिनूक हेलीकॉप्टर हैं। भारत ने सितंबर 2015 में 15 चिनूक सहित 22 अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर को खरीदने के लिए तीन सौ करोड़ डॉलर का सौदा किया था जिसमें से 2017 में सात अपाचे हेलीकॉप्टर की खरीद हो गई है।

डिफेन्स न्यूज़  की रिपोर्ट के अनुसार रक्षा अधिकरी ने बताया है कि अब तक चार चिनूक भारत आ गए हैं और आने वाले दो महीनों में अपाचे हेलीकाप्टर का भी पहला दस्ता भारत आ जाएगा। आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना में चिनूक और अपाचे हेलीकॉप्टर का आना सेना की ताकत को और ज़्यादा बढ़ा देगा। चिनूक हेलीकाप्टर के बाद अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर सेना का सबसे महत्त्वपूर्ण सौदा होगा क्योंकि अपाचे नई तकनीकियों से बना दो पायलट द्वारा संचालन किया जाने वाला हेलकॉप्टर है।