समाचार
83 तेजस के लिए प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में ₹48,000 करोड़ के सौदे को स्वीकृति

भारतीय वायुसेना के बेड़े में 83 तेजस शामिल करने के लिए 48,000 करोड़ रुपये के सौदे को कैबिनेटी कमेटी ऑफ सिक्‍योरिटी (सीसीएस) ने अपनी स्वीकृति दे दी है। इसमें भारतीय वायुसेना के लिए 73 हल्के लड़ाकू विमान तेजस मार्क-1ए और 10 तेजस मार्क-1 विमान खरीदे जाएँगे।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “वायुसेना की मजबूती के लिए यह निर्णय लिया गया है। प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुआ यह सौदा रक्षा क्षेत्र में बेहद अहम साबित होगा।”

उन्होंने कहा, “हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) ने पहले ही अपने नासिक और बेंगलुरु डिवीजनों में दूसरी पंक्ति की विनिर्माण सुविधाएँ स्थापित की हैं। एचएएल एलसीए-मार्क-1ए उत्पादन को वायुसेना को देगा। यह निर्णय वर्तमान एलसीए तंत्र का विस्तार करेगा और रोजगार के नए अवसर खोलेगा।”

बता दें कि तेजस चौथी पीढ़ी के सुपरसोनिक लड़ाकू विमानों के समूह में सबसे हल्का और छोटा है। यह फ्लाई बाय वायर फ्लाइट कंट्रोल सिस्टम, इंटीग्रेटेड डिजिटल एवियोनिक्स, मल्टीमॉड राडार से लैस लड़ाकू विमान है। इसकी संरचना मिश्रित सामग्रियों से बनी है। वर्तमान में इसको पश्चिमी में पाकिस्तान सीमा के करीब तैनात किया गया है।