समाचार
“भारत संयुक्त थिएटर कमान की पश्चिमी प्रणाली की नकल नहीं करेगा”- बिपिन रावत

नवनियुक्त चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) के रूप में कार्यभार संभालने के बाद जनरल बिपिन रावत ने कहा, “भारतीय सेना संयुक्त थिएटर कमान की पश्चिमी प्रणाली की नकल नहीं करेगी। वो अपनी खुद की प्रणाली पर काम करेगी। साथ ही हम तीन वर्षों में तीन सेवाओं को एकीकृत करने का प्रयास करेंगे।”

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, जनरल बिपिन रावत ने बुधवार को सेना के राजनीतिकरण किए जाने संबंधी आरोपों पर कहा, “सशस्त्र बल खुद को राजनीति से दूर रखते हैं और सरकार के निर्देशों के अनुरूप काम करते हैं।” उन्होंने कांग्रेस और विपक्षी दलों द्वारा उठाए जा रहे सवालों के जवाब में यह उत्तर दिया।

उन्होंने कहा, “मेरा ध्यान यह सुनिश्चित करने पर रहेगा कि तीनों सेनाओं को मिले संसाधनों का सर्वश्रेष्ठ और सर्वोत्तम इस्तेमाल हो। मेरा काम तीनों सेनाओं के बीच तालमेल बैठाना और उनकी क्षमता को बढ़ाना है। हम इस ओर काम करते रहेंगे। सीडीएस अपने निर्देशों से बल को चलाने की कोशिश नहीं करेगा। इसका लक्ष्य अधिक से अधिक समन्वय स्थापित करना होगा।”

थिएटर कमान की स्थापना के बारे में जनरल बिपिन रावत ने कहा, “यह करने के कई तरीके हैं। मुझे लगता है कि हम सभी पश्चिमी तरीकों और दूसरों के किये की नकल कर रहे हैं। हमारी अपनी प्रणाली भी हो सकती है। हम एक-दूसरे की समझ से प्रणाली बनाने पर काम करेंगे और मुझे लगता है कि यह काम करेगी।”

उन्होंने कहा, “मुझे सिर पर हल्का महसूस हो रहा है क्योंकि मैंने वो गोरखा टोपी उतार दी है, जिसे मैं 41 वर्षों से पहन रहा था। मैं ‘पीक कैप’ पहन रहा हूँ, जो यह बताने के लिए है कि हम अब निष्पक्ष हैं और सभी तीनों सेवाओं के प्रति निष्पक्ष रहेंगे।