समाचार
भारत मिसाइल हमले के लिए अमेरिकी डाटा का कर सकेगा उपयोग, बीईसीए करार पूरा

भारत और अमेरिका के बीच मंगलवार ( 27 अक्टूबर) को हैदराबाद हाउस में चल रही टू प्लस टू बैठक में बेसिक एक्सचेंज एंड कॉपरेशन एग्रीमेंट (बीईसीए) को लेकर बड़ा सैन्य सहयोग करार हुआ है। समझौते पर अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो, रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने हस्ताक्षर किए।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, इस समझौते से भारत मिसाइल हमले के लिए विशेष अमेरिकी डाटा का उपयोग कर सकेगा। इसमें किसी भी क्षेत्र की सटीक भौगोलिक स्थिति होगी। इससे भारत की सैन्य ताकत मजबूत होगी।

माइक पोम्पियो ने कहा, “आज दो महान लोकतंत्रों के करीब बढ़ने का अच्छा मौका है। इस क्षेत्र में शांति और स्थिरता को बढ़ावा देने, चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की सुरक्षा और स्वतंत्रता के लिए खतरों का सामना करने को आज हम बहुत कुछ चर्चा कर रहे हैं।”

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, “पिछले दो दशकों में हमारे द्विपक्षीय संबंध लगातार बढ़े हैं। ऐसे में नियम-आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को बनाए रखना विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। एक साथ क्षेत्रीय और वैश्विक चुनौतियों की बात करें तो हम एक वास्तविक अंतर बना सकते हैं।”

हैदराबाद हाउस में राजनाथ सिंह, एस जयशंकर और मंत्री माइक पोम्पियो, मार्क एस्पर बैठकर कर रहे हैं। इसमें भारत की ओर से पाकिस्तान और आतंकवाद के मसले को उठाया जा सकता है। साथ ही एलओसी पर चीन के साथ जारी तनाव पर भी चर्चा हो सकती है।

बैठक से पूर्व माइक पोम्पियो ने दिल्ली स्थिति वॉर मेमोरियल पहुँचकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान उनके साथ अमेरिकी मार्क एस्पर भी मौजूद थे।