समाचार
सुरक्षा और ऊर्जा समझौते के तहत अमेरिका बनाएगा भारत में छह परमाणु संयंत्र

बुधवार (13 मार्च) को अमेरिका और भारत के बीच एक अहम समझौता हुआ है। दोनों देशों ने भारत में छह अमेरिकी परमाणु ऊर्जा संयंत्रों के निर्माण का फैसला लिया है।

विदेश मंत्रालय ने बताया कि दोनों देशों ने द्विपक्षीय सुरक्षा और असैन्य परमाणु ऊर्जा को मज़बूत करने का निर्णय लिया है जिसमें छह परमाणु ऊर्जा संयंत्रों का निर्माण भी शामिल हैं। अमेरिका ने एक बार फिर परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में भारत की पुरानी सदस्यता में मज़बूत समर्थन की भी पुष्टि जताई है।

बुधवार को वॉशिंगटन डीसी में हुए भारतीय-अमेरिकी सुरक्षा वार्ता के नौवें दौर के बाद भारत और अमेरिका के बीच हुए इस सौदे की बात सामने आई है। खबर है कि वार्ता में दोनों देशों ने विनाशकाय हथियारों के प्रसार को बचाने और आतंकवाद को इसकी पहुँच से दूर रखने के लिए हाथ मिलाया है।

आपको बता दें कि भारत और फ्रांस के बीच हुई जैतापुर परमाणु ऊर्जा परियोजना के निर्माण की बात भी अब उन्नत चरण पर है। महाराष्ट्र के तटीय इलाके में जैतपुर परमाणु ऊर्जा का निर्माण होने बाद यह भारत का सबसे बड़ा परमाणु पार्क होगा जिसमें प्रत्येक 1650 मेगावाट वाले छह रिएक्टर होंगे।