समाचार
गणतंत्र दिवस पर गलवान घाटी में वीरगति को प्राप्त जवान होंगे वीरता पदक से सम्मानित

गणतंत्र दिवस पर भारत अपने उन बहादुर सैनिकों को सम्मानित करने जा रहा है, जो 15 जून 2020 को पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की आक्रामकता का विरोध करते हुए देश की रक्षा में वीरगति को प्राप्त हो गए थे।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, बिहार बटालियन के कर्नल बी संतोष बाबू सहित भारतीय सेना के करीब पाँच जवानों को मरणोपरांत वीरता पदक से गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया जा सकता है।

चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने भारतीय सेना के जवानों के खिलाफ गलवान घाटी में हमले की व्यापक रूप से योजना बनाई थी। इसमें भारतीय स्थिति की जासूसी के लिए मानवरहित हवाई वाहन (यूएवी) का उपयोग करना शामिल था।

आश्चर्यजनक हमले के बावजूद भारतीय सेना ने बहादुरी से लड़ाई लड़ी और चीन के 40 से अधिक जवानों को मार डाला। अमेरिकी खुफिया रिपोर्टों ने दावा किया था कि चीन के कमांडिंग ऑफिसर सहित 35 चीनी जवानों की हिंसा में मौत हुई होगी।

16 बिहार बटालियन के कर्नल बी संतोष बाबू सहित 20 भारतीय सैनिकों ने वास्तविक नियंत्रण रेखा पर 7 घंटे तक चले संघर्ष में अपने प्राणों की बाजी लगा दी थी।