समाचार
भारत ने एंटी टैंक मिसाइल ‘संत’ का किया सफल परीक्षण, 45 दिन में 12वाँ परीक्षण

भारत ने ओडिशा के तट से एकीकृत परीक्षण रेंज में 19 अक्टूबर को रूफ-टॉप लॉन्चर से स्टैंड-ऑफ एंटी-टैंक (संत) मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया।

न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के लिए रक्षा अनुसंधान व विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा विकसित की गई सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल को लेकर दावा है कि इसमें लॉन्चिंग से पहले लॉक ऑन और लॉन्चिंग के बाद भी लॉक ऑन क्षमता होगी।

संत मिसाइल हेलिकॉप्टर लॉन्चेड नाग (हेलीना) मिसाइल का उन्नत संस्करण है, जो एडवांस्ड नोड-माउंटेड सीकर से सुसज्जित है। मिसाइल ने परीक्षण के दौरान सभी मिशन मापदंडों को पूरा किया। इसने निर्दिष्ट स्थैतिक लक्ष्य को उच्च सटीकता के साथ मारा गिराया था।

इस मिसाइल की रेंज 12 किलोमीटर है। यह पिछले 45 दिनों में भारत द्वारा किया गया 12वाँ मिसाइल परीक्षण है। भारतीय नौसेना के स्वदेश निर्मित स्टील्थ विध्वंसक आईएनएस चेन्नई से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का परीक्षण करने के ठीक एक दिन बाद यह परीक्षण किया गया।

पिछले 45 दिनों में भारत द्वारा परीक्षण की गई अन्य मिसाइलों में पृथ्वी -2, शौर्य, ब्रह्मोस, एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल, टॉरपीडो की सुपरसोनिक मिसाइल असिस्टेड रिलीज़, न्यू जनरेशन एंटी-रेडिशन मिसाइल, हाइपरसोनिक टेक्नोलॉजी डिमॉन्स्ट्रेटर व्हीकल और निर्भय सबसोनिक क्रूज़ मिसाइल शामिल हैं।

लद्दाख में पड़ोसी देश के साथ बिगड़ते रिश्तों और बढ़ते तनाव के बीच ये परीक्षण किए गए हैं। सैन्य और राजनयिक स्तरों पर कई दौर की बातचीत के बाद दोनों देश अभी भी पूर्वी लद्दाख में संघर्ष को हल करने से दूर हैं।