समाचार
भारत ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल के भूमि संस्करण का सफल परीक्षण किया

मंगलवार (17 दिसंबर) को भारत ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल का ओडिशा के तट से सफल परीक्षण किया।

रक्षा सूत्रों ने बताया कि इस मिसाइल के भूमि पर वार करने वाले संस्करण का सुबह बालासोर के चांदीपुर में इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज (आईटीआर) के प्रक्षेपण कॉम्प्लेक्स-3 में एक अस्थिर प्रक्षेपक की मदद से परीक्षण किया गया।

सूत्रों ने बताया कि क्योंकि यह मिसाइल दिए गए लक्ष्य से जा टकराई इसलिए सतह से सतह पर वार करने वाली ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल का परीक्षण सफल रहा।

सूत्रों ने आगे कहा कि इस मिसाइल को पनडुब्बियों, जहाजों, लड़ाकू विमानों और भूमि से प्रक्षेपित किया जा सकता है।

ब्रह्मोस भारत के रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) और रूस के संघीय राज्य एकात्मक उद्यम (एनपीओएम) का एक संयुक्त उद्यम है।

इससे पहले भारत ने 30 सितंबर को भी ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण किया था। भारतीय वायुसेना ने 22 अक्टूबर को अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के ट्राक द्वीप पर सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल का दो बार विस्फोट कर परीक्षण किया था।

290 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली ब्रह्मोस दुनिया की सबसे तेज़ सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल है।

(इस खबर को आईएएनएस की सहायता से प्रकाशित किया गया है।)