समाचार
“जैश के आतंकी शिविर पर हमला, कई आतंकवादी ढेर”- विदेश सचिव विजय गोखले

आज (26 फरवरी को) पाकिस्तान में आतंकी उपकरण पर भारत के हमले के विषय में जानकारी देते हुए विदेश सचिव विजय गोखले ने दिल्ली में मीडिया को बताया कि यह हमला आवश्यक था क्योंकि हमें भरोसेमंद खुफिया सूत्रों से ज्ञात हुआ था कि भारत पर आतंकी हमला करने के लिए जैश-ए-मोहम्मद (जेम) एक और फिदायीन (आत्मघाती) हमलावर को तैयार रहा था, एएनआई  ने कहा।

यह हवाई हमला 12 मिराज 2000 जेट विमानों द्वारा भारतीय वायुसेना ने किया।

गोखले ने कहा कि पाकिस्तानी सरकार को जेम की गतिविधियों के विषय में निरंतर साक्ष्य और जानकारी दी जा रही थी लेकिन कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। उन्होंने बताया कि इसी समूह ने 2016 में पठानकोट के एयर बेस और 2001 में संसद पर हमला किया था।

उन्होंने मीडिया रिपोर्टों की पुष्टि की जिसमें कहा गया था कि पाकिस्तान के खैबर–पख्तूनख्वा में बालाकोट स्थित आतंक शिविर को ध्वस्त किया गया है। गोखले ने दावा किया कि बड़ी संख्या में फिदायीन हमलावरों, आतंकवादियों, कमांडरों और परीक्षकों को निष्क्रिय कर दिया गया है।

उन्होंने यह भी बताया कि हमले के दौरान किसी नागरिक को नुकसान न पहुँचाने का ध्यान रखा गया था, लक्ष्य पहाड़ी के ऊपर एक वन क्षेत्र था जो आबादी क्षेत्र से दूर था।