समाचार
भारत-सिंगापुर हैकाथन- प्रधानमंत्री ने निगरानी वाले कैमरे को संसद के लिए ज़रूरी बताया
आईएएनएस - 30th September 2019

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को चेन्नई में सिंगापुर-इंडिया हैकाथन के विजेताओं को बधाई देते हुए छात्रों द्वारा दिए गए एक सुझाव की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, “यह संसद में काफी उपयोगी साबित होगा इसके लिए मैं अध्यक्ष से बात करूँगा।”

छात्रों द्वारा दिए गए सुझावों में एक कैमरे के माध्यम से बैठे लोगों की निगरानी शामिल है। इससे यह पता लगाया जा सकता है कि कौन ध्यान दे रहा है और कौन नहीं।

आईआईटी मद्रास में सिंगापुर-भारत हैकाथन के पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुटकी लेते हुए कहा, “मेरे युवा दोस्तों ने आज कई समस्याओं का हल किया है। मुझे सभी सुझाव में खासकर कि वो कैमरा काफी पसंद आया, जो यह पता लगाता है कि कौन क्या कर रहा है। मैं संसद में अपने अध्यक्ष से इस बारे में बात करूँगा। मुझे यकीन है कि संसद के लिए यह बहुत उपयोगी होगा।”

उन्होंने कहा, “मैं हैकाथन के विजेताओं को बधाई देता हूंँ। साथ ही यहाँ एकत्रित हुए प्रत्येक युवा मित्र और विशेष रूप से छात्र मित्रों को बधाई देता हूँ। आप परिणामों की चिंता किए बिना अपने प्रयासों के लिए प्रतिबद्ध हैं।” सिंगापुर-भारत हैकाथन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक पहल है। भारत और अन्य देश के बीच संयुक्त अंतर-राष्ट्रीय हैकाथन शनिवार को शुरू हुई और सोमवार को समाप्त हो गई।

36 घंटे के हैकाथन में 20 टीमों ने हिस्सा लिया था। प्रत्येक टीम में संस्कृति और विचारों के आदान-प्रदान के लिए दोनों देशों के तीन छात्र थे। आयोजन के बारे में अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) अध्यक्ष अनिल सहस्रबुद्धे ने कहा, “सिंगापुर-भारत हैकाथन 2018 में शुरू हुआ था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस विचार का सुझाव दिया था। उनका मानना ​​है कि भारत की समस्याओं का समाधान युवा सोच से आएगा।”