समाचार
भारत ने अमेरिका से छह और पोसिडॉन-8आई विमानों के अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू की

भारतीय सशस्त्र बलों की क्षमताओं को बढ़ाने के लिए एक प्रमुख कदम के तौर पर भारत ने संयुक्त राज्य अमेरिका से लगभग 1.8 अरब डॉलर की लागत के छह और लंबी दूरी के पोसिडॉन-8आई (पी -8आई) विमानों के अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू की है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, भारत के पास पहले से ही अमेरिका स्थित एयरोस्पेस दिग्गज बोइंग द्वारा निर्मित पी-8आई विमान हैं, जो सक्रिय रूप से हिंद महासागर में निगरानी अभियान के तहत उपयोग किए जा रहे हैं। वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर जारी तनाव के बीच पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में पी-8आई विमान का उपयोग चीनी गतिविधियों की निगरानी के लिए भी किया जा रहा है।

भारतीय नौसेना ने पहली बार 2009 में 2.1 अरब डॉलर की कीमत पर इन आठ विमानों का ऑर्डर दिया था। इसके बाद जुलाई 2016 में इनमें से चार और विमानों के लिए 1.1 अरब डॉलर का सौदा किया। उसी का वितरण इस साल के अंत में दिसंबर तक शुरू होने वाला है।

इन 12 पी-8आई के अलावा इस तरह के छह और विमान खरीदने की प्रक्रिया भारत द्वारा शुरू की गई है। इसमें पेंटागन की विदेशी सैन्य बिक्री (एफएमएस) कार्यक्रम के तहत सरकार से सौदे के लिए अमेरिका को अनुरोध पत्र जारी किया जा रहा है।

पी-8आई विमान को राडार और इलेक्ट्रो-ऑप्टिक सेंसर से लैस किया गया है। साथ ही हार्पून ब्लॉक -2 मिसाइलों और एमके -54 हल्के टॉरपीडो से लैस किया गया है।