समाचार
सऊदी अरब में भी अब चलेंगे रुपे कार्ड, नरेंद्र मोदी के दौरे के समय हुआ था समझौता

सिंगापुर, बहरीन, भूटान और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में रुपे कार्ड के शुभारंभ के बाद भारत ने मंगलवार (29 अक्टूबर) को मध्य-पूर्व राष्ट्र में रुपे कार्ड का प्रारंभिक मार्ग प्रशस्त करने के लिए सऊदी अरब के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, यात्रा के अंत में जारी एक संयुक्त बयान में कहा गया है कि भारत और सऊदी अरब के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यात्रा के दौरान इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया गया था।

लगभग 26 लाख भारतीय सऊदी अरब में रहते हैं, जो वहाँ के विकास में भी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। रुपे कार्ड के चलन से भारत और सऊदी अरब के बीच इसकी गति और बढ़ेगी। इतना ही नहीं, हर साल 2 लाख से अधिक भारतीय हज यात्रा पर जाते हैं। कार्ड के चलन से उन्हें भी सुविधा होगी।

सऊदी में रुपे कार्ड के शुभारंभ से कार्ड के उपयोगकर्ता सस्ती दरों पर और भारतीय मुद्राओं में लेनदेन कर सकेंगे। गौरतलब है कि भारत में पहले से ही लगभग 50 करोड़ रुपे कार्ड प्रचलन में हैं।

गल्फ न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, सऊदी अरब के इस निवेश मंच से पहले दिन लगभग 23 अरब डॉलर के समझौते पत्र पर दोनों देश ने हस्ताक्षर किए। इस मौके पर कई वैश्विक नेता भी मौजूद रहे।