समाचार
भारत ने 19 पाकिस्तानी कैदियों को अट्टारी-वाघा बॉर्डर से रिहा किया

भारत ने 19 पाकिस्तानी कैदियों को अट्टारी-वाघा बॉर्डर से रिहा करते हुए अपने देश वापस लौटा दिया है।

एशियन न्यूज इंटरनैशनल की रिपोर्ट के अनुसार, ये पाकिस्तानी कैदी भारत में अवैध रूप से रहने, जासूरी करने जैसे कई अपराधों में शामिल थे, जिस वजह से उन्हें जेल में डाल दिया गया था।

रिहा हुए कैदी विकास अहमद ने बताया, “मैं 2009 में बिना वीजा के भारत में पकड़ा गया था। मैं वीजा के बिना चार साल तक देश में रहा और मुझे दस साल कैद की सज़ा हुई थी।”

एक पाकिस्तानी मछुवारे मुस्तफा को 13 महीने की कैद के बाद रिहा किया गया। उसने कहा, “मैं भारत और पाकिस्तान दोनों सरकारों से दूसरे राष्ट्र के कैदियों को जेल से रिहा करने की गुज़ारिश करना चाहूँगा।”

हाल ही में दोनों देशों ने एक-दूसरे के कैदियों को रिहा करने की पहल की। 30 अप्रैल को पाकिस्तान ने वाघा बॉर्डर से 60 कैदियों को रिहा किया था, जिसमें 55 मछुवारे थे।

रिहा किए गए लोगों में से कई पहले ही पाकिस्तान में अपनी सज़ा काट चुके थे। यह बात सामने आने के बाद भारत ने 9 अप्रैल को पाकिस्तान को एक मौखिक नोट दिया था। इसमें सज़ा पूरी कर चुके भारतीय कैदियों की तत्काल रिहाई और देश प्रत्यावर्तन का आयोजन करने के लिए कहा था।