समाचार
पीपीई किट की उत्पादन क्षमता देश में हुई एक लाख प्रति दिन, बेंगलुरु इसमें सबसे आगे

पीपीई किट की घरेलू उत्पादन क्षमता प्रतिदिन एक लाख से अधिक हो गई है। ऐसे में बेंगलुरु इसके प्रमुख केंद्र के रूप में उभरा है, जो कुल आपूर्ति का 50 प्रतिशत से अधिक उत्पादन करता है।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, बेंगलुरु के अलावा तमिलनाडु में तिरुपुर, चेन्नई व कोयम्बतूर, गुजरात में अहमदाबाद व वडोदरा, पंजाब में फगवाड़ा व लुधियाना, महाराष्ट्र में कुसुमुनगर व भिवंडी, राजस्थान में डूंगरपुर, कोलकाता, दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम और कुछ अन्य जगहों पर पीपीई किट का निर्माण स्वीकृत इकाइयों में किया जा रहा है।

बनाई जा रही पीपीई किटों को विभिन्न राज्यों की आवश्यकताओं के आधार पर भेजा जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, कपड़ा और फार्मास्यूटिकल्स विभाग विविध उद्योगों, हितधारकों और निर्माताओं के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। उनका उद्देश्य पीपीई का उत्पादन बढ़ाकर माँग की आपूर्ति को बनाए रखने और किट के निर्माण की सभी अड़चनों को दूर करना है।

देश में बढ़ रही कोविड-19 महामारी को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन से रुकी हुई आर्थिक गतिविधियों के बीच मेक इन इंडिया कार्यक्रम बहुत तेज़ी से आगे की ओर कदम बढ़ाता नज़र आ रहा है।