समाचार
अफगानिस्तान में बिगड़ते हालातों के मध्य भारत अपने नागरिकों को निकालने की तैयारी में

अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी के मध्य तालिबान की बढ़ती हिंसा को देखते हुए भारत सरकार ने अपने नागरिकों की सुरक्षा को लेकर बड़ा निर्णय लिया है। सरकार अपने नागरिकों को देश से निकालने की तैयारी में है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, भारत सरकार के शीर्ष अधिकारियों के हवाले से कहा गया कि अफगानिस्तान के काबुल, कंधार और मजार-ए-शरीफ शहरों में मौजूद हमारे कर्मचारियों और अधिकारियों को वहाँ से निकालने की योजना पर काम किया जा रहा है।

उधर, अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि एयरफील्ड अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा एवं रक्षा बल को पूरी तरह से सौंप दिया गया। सभी गठबंधन सेना बगराम से दूर हैं। हालाँकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि अमेरिकी और नाटो सैनिकों ने आखिरी बार कब काबुल से 50 किलोमीटर उत्तर में एयर बेस छोड़ा था।

तालिबान के लड़ाकों ने अफगानिस्तान के कई जिलों पर अपना प्रभुत्व जमा लिया है। इससे भारत समेत कई देश चिंतित हैं। अफगानिस्तान के शहरों और भीतरी क्षेत्रों की सुरक्षा स्थितियों को देखते हुए कई देश दूतावासों और वाणिज्य दूतावासों के संचालन में असमर्थ होते जा रहे हैं।

कहा जा रहा है कि तालिबान के हमले के डर से अफगान अधिकारी भी अपने सरकारी नियंत्रण वाले क्षेत्रों से भागने लगे हैं।