समाचार
परमाणु सक्षम मिसाइल अग्नि-5 की तैनाती की योजना, बीजिंग भी होगा इसके दायरे में

गत तीन माह में 30 अभियानों की सफलता के साथ भारत ने इस वर्ष परमाणु-सक्षम बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 को तैनात करने की योजना बनाई है।

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, एक बार शामिल होने के बाद अग्नि-5 देश के लिए खेलपरिवर्तक सिद्ध होगी। इसकी दूरी क्षमता लगभग 5,000-8,000 किलोमीटर लंबी बताई जाती है। यह भारत को बीजिंग सहित सभी महत्वपूर्ण चीनी शहरों को खतरे के क्षेत्र में लाने में सक्षम बनाती है।

इस मिसाइल को शामिल करके  भारत बड़े पैमाने पर जवाबी कार्रवाई के साथ चीनी परमाणु हमले का जवाब दे सकता है। रक्षा सूत्रों ने द न्यू इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “अग्नि-5, जो अपने पूर्व-प्रेरण परीक्षणों से गुजर रही है, को आखिरकार सुरक्षाबलों द्वारा चयनित रणनीतिक स्थानों पर तैनात किया जाएगा।”

कैनिस्टराइज्ड अग्नि-5 बलों को आवश्यक परिचालन लचीलापन प्रदान करती है। कैनिस्टराइजेशन एक मिसाइल को तत्परता की स्थिति में रखने में सक्षम बनाता है। यह मिसाइल को आसान बनाता है और तेजी से लॉन्च की अनुमति देता है। इसे रोड मोबाइल लॉन्चर पर रखा जा रहा है। दुश्मनों के उपग्रहों से बचने और संघर्ष के समय इसे एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाया जा सकता है।

अग्नि-5 एक ठोस ईंधन वाली मिसाइल है। ऐसी मिसाइलें त्वरित प्रतिक्रिया और लंबे समय तक भंडारण का फायदा देती हैं। इसकी तुलना में तरल ईंधन वाली मिसाइल को लॉन्च करने में अधिक समय लगता है।