समाचार
लेह, हिमाचल की चीन सीमाओं पर बढ़ी चौकसी, मोबाइल फोन बंद, सेना की छुट्टियाँ रद्द

गलवान घाटी में चीन की सेना के साथ हुई झड़प के बाद भारत ने लेह और बाकी सरहदों पर अपनी चौकसी बढ़ा दी है। लद्दाख से जो भी इकाइयाँ पीस स्टेशन लौटने वाली थीं, उन्हें रुकने को कहा गया है। लद्दाख के आसपास तैनात अपनी इकाइयाँ को लेह में जाने के लिए तैयार रहने को कहा है।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, लद्दाख में सीमा से सटे गाँव खाली करवाने की तैयारी शुरू हो गई है। देमचोक पैंगॉन्ग झील के आसपास के लोगों को अलर्ट रहने को कहा है। सीमा से सटे क्षेत्रों में मोबाइल फोन बंद कर दिए हैं। यहाँ तक कि सेना के लैंडलाइन फोन बंद कर दिए हैं। सेना ने अपने अधिकारियों की छुट्टियाँ रद्द कर दी हैं।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, सांगला के किन्नौर में भारत-तिब्बत सीमा पर भी सेना ने चौकसी बढ़ा दी है। भारतीय सेना, आईटीबीपी, किन्नौर पुलिस और भारत तिब्बत सीमा के साथ लगती पंचायतें भी सतर्क हो गई हैं। जिला प्रशासन ने भारत-चीन के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए अलर्ट जारी किया है।

हिमाचल में चीन से लगती 250 किमी लंबी अंतर-राष्ट्रीय सीमा के आसपास के 15 किमी के क्षेत्रों को सील कर दिया गया। आम लोगों को सूरत में न जाने के लिए कह दिया गया है। सीमा से सटे क्षेत्रों में सेना के जवानों व गाड़ियों की आवाजाही भी बढ़ गई है। कुल्लू और लाहौल के आसमान में लड़ाकू विमानों को मंडराते हुए देखा गया है।