समाचार
भारत को आतंकवाद से लड़ने के लिए किसी सहायता की ज़रूरत नहीं है- वेंकैया नायडू

भारत के उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने शनिवार (9 मार्च) को कोस्टा रिका में भरतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा, “भारत अपने देश में आतंकवाद से लड़ने के लिए सक्षम है” और साथ ही यह भी कहा कि भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में बने जैश-ए-मोहम्मद के शिविरों पर हमला कर अपनी क्षमता दिखाई है।

वेंकैया नायडू का यह भाषण भारत में आतंकवाद के संदर्भ में ही था।

पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए उप-राष्ट्रपति ने कहा, “हमेशा कोई न कोई ऐरा-गैरा हमारे यहाँ आया, हम पर हमला किया, हम पर राज किया, हमसे दिखा किया और हमें तबाह कर दिया पर हमने कभी किसी पर पलटवार नहीं किया क्योंकि हम पूरे विश्व को एक परिवार की भांति मानते हैं और उसमें विश्वास रखते हैं, पर हमारे एक पड़ोसी हैं जो आतंकवादियों को शरण देता है, उनकी मदद करता है और उन्हें तैयार करता हैं”।

“हमें भारत में आतंकवाद से लड़ने के लिए किसी से किसी तरह की भी सहायता नहीं चाहिए। हम सक्षम हैं। हमने अपनी क्षमता की नमूना दिखाया है, जैश-ए-मोहम्मद ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा सीआरपीएफ के जवानों पर आतंकी हमला किया जिसमें 40 से ज़्यादा हमारे जवान वीरगति को प्राप्त ए, फिर उसके जवाब में भारतीय वायु सेना ने नियंत्रण रेखा के उस पार जाकर ना ही तो पाकिस्तानी सेना पर हमला किया और ना ही किसी पाकिस्तानी नागरिक पर हमला करते हुए सीधा निशाना जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शिविरों पर साधा”।

वैंकया नायडू ने कहा कि “भारत अपने पड़ोसी देश के साथ अच्छे संबंध बनाना चाहता है पर जैसे कि हमारे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी ने कहा है कि “आप अपने दोस्त तो बदल सकते है पर अपने पड़ोसी नहीं” बस इसी को ध्यान में रखते हुए भारत अपने पूरे प्रयास कर रहा है”।