समाचार
एलएसी पार की भारतीय सैनिकों ने- चीनी विदेश मंत्रालय, भारत ने कहा झूठा दावा

लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन के साथ भारतीय सैनिकों की हुई हिंसक झड़प के बाद पड़ोसी देश के विदेश मंत्रालय का कहना है, “भारत ने समझौते का उल्लंघन कर एलएसी को जान-बूझकर पार किया था।”

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, चीन ने कहा, “भारत ने वादा किया था कि वे गलवान नदी को गश्त करने और सुविधाओं के निर्माण के लिए पार नहीं करेंगे। दोनों देश भूमि पर कमांडरों के बीच बैठकों के जरिए सैनिकों की वापसी पर निर्णय करेंगे लेकिन 15 जून को उसने सभी समझौतों का उल्लंघन किया।”

भारत का कहना है कि चीन की ओर से किया गया दावा झूठा और बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया है। यह दावा 6 जून को हुई उच्चस्तरीय सैन्य वार्ता में बनी सहमति के भी खिलाफ है।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा, “गलवान घाटी एलएसी के चीनी हिस्से में आता है। कई वर्षों से वहाँ चीनी सुरक्षा गार्ड गश्त कर रहे हैं और अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं। क्षेत्र में हालात से निपटने के लिए कमांडर स्तर की दूसरी बैठक जल्द होनी चाहिए।”

बता दें कि गलवान में चीन की तरफ होने के दावे से एक दिन पहले ही भारत ने घाटी पर चीनी सेना के संप्रभुता के दावे को खारिज कर दिया था। साथ ही बीजिंग से अपनी गतिविधियाँ एलएसी के उस तरफ तक ही सीमित रखने को कहा था।