समाचार
बांग्लादेश सीमा से दो वर्षों में सर्वाधिक घुसपैठ, ड्रोन से पाक भेजता हथियार- गृह मंत्रालय

राज्यसभा में गृह मंत्रालय ने एक लिखित जवाब में गत दो वर्षों में पड़ोसी देशों से घुसपैठ की संख्या साझा की। एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, भारत-बांग्लादेश की सीमा में घुसपैठ के करीब 1000 से अधिक मामलों के साथ यह शीर्ष पर है। वहीं, नेपाल और पाकिस्तान दोनों देशों की सीमा से 60 के करीब घुसपैठ के मामले आए।

गृह मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान सीमा पार से ड्रोन के जरिए हथियारों की आपूर्ति के कुछ उदाहरण सुरक्षा और कानून प्रवर्तन एजेंसियों के संज्ञान में आए हैं। सरकार इस तरह की चुनौतियों का सामना करने के लिए कई कदम उठा रही है।”

राज्यसभा को जानकारी दी गई कि घुसपैठ रोकने में प्रभावी निगरानी, ​​खुफिया जानकारी को व्यवस्थित करने, बलों की क्षमता निर्माण, सीमाओं पर गश्त करना, सीमावर्ती क्षेत्रों में स्थानीय आबादी का संवेदीकरण, अवलोकन पदों की स्थापना, आधुनिक एवं हाई-टेक निगरानी उपकरण का उपयोग आदि शामिल हैं।”

मंत्रालय ने यह भी बताया कि भारत-बांग्लादेश सीमा पर बाड़ लगाने का काम कठिन भू-भाग, नदी और दलदल भूमि, भूमि अधिग्रहण की समस्याओं, सार्वजनिक विरोध और बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश द्वारा आपत्तियों आदि के कारण पूरा नहीं हो सका है।

आगे कहा गया कि सरकार नियमित रूप से फेंसिंग के काम की प्रगति की निगरानी कर रही है। बीएसएफ ने भारत-बांग्लादेश सीमा पर नदी की सीमा की रखवाली के लिए फ्लोटिंग बॉर्डर आउट पोस्ट और नावों के साथ कर्मियों को तैनात किया है। साथ ही सीमा पर छोटी नदी या  नाले के अंतराल को कवर करने के लिए फ्लड लाइट्स या हाई मास्ट लाइट्स लगाई गई हैं।