समाचार
भारत ने सीमा पार व्यापार सुगमता में लगाई छलांग, यूरोपी संघ को छोड़ा पीछे- सर्वेक्षण

एक सकारात्मक विकास में भारत ने सीमा पार व्यापार की सुगमता में बड़ी उपलब्धि हासिल की है। यह कहना डिजिटल और सतत व्यापार सुविधा पर नवीनतम संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के वैश्विक सर्वेक्षण का है, जिसने दो वर्षों में 143 विभिन्न अर्थव्यवस्थाओं का अध्ययन किया।

लाइवमिंट की रिपोर्ट के अनुसार, सर्वेक्षण में भारत की रैंक 2019 में 79.49 प्रतिशत से बढ़कर 2021 में 90.32 प्रतिशत हो गई, जो बड़ा सुधार है। द्वि-वार्षिक सर्वेक्षण विशेष रूप से अलग-अलग देशों द्वारा किए गए व्यापार सुविधा उपायों से संबंधित है।

इसको लेकर केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) ने कहा कि भारत दक्षिण व दक्षिण-पश्चिम एशिया क्षेत्र और एशिया प्रशांत क्षेत्र में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले देशों में से एक था।

सीबीआईसी ने यह भी कहा कि देश की समग्र गणना भी कई ओईसीडी देशों की गणना और यूरोपीय संघ की औसत गणना से अधिक पाई गई है।

अगर सर्वेक्षण को गहनता से देखा जाए तो भारत ने पारदर्शिता में 100 प्रतिशत, औपचारिकताओं में 95.83 प्रतिशत, संस्थागत व्यवस्था और सहयोग में 88.89 प्रतिशत और कागज़ रहित व्यापार में 96.30 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं।