समाचार
सचिन वाझे कार में पत्र रखना भूला, दोबारा आया तो सीसीटीवी में हुआ कैद- एनआईए

एंटीलिया मामले में राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ने शनिवार (27 मार्च) को खुलासा किया कि निलंबित महाराष्ट्र पुलिस का अधिकारी सचिन वाझे धमकी भरा पत्र विस्फोटक से भरी कार में रखना भूल गया था। वहाँ से गायब होने के बाद उसे जब याद आया तो वह फिर से कार में पत्र रखने गया, तभी सीसीटीवी में तस्वीर कैद हो गई।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, एनआईए के हवाले से कहा जा रहा है कि मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक से भरी स्कॉर्पियो खड़ी करने के बाद सचिन वाझे उसमें धमकी भरा पत्र रखना भूल गया था। वह इनोवा से वहाँ से निकल गया। बाद में याद आने पर वह दोबारा एंटीलिया के बाहर आया। उसने स्कॉर्पियो में पत्र रखा। उसी दौरान पास की एक दुकान के सीसीटीवी में दृश्य कैद हो गया।

एनआईए का कहना है कि उस दौरान सचिन वाझे सफेद रंग का ढीला कुर्ता व पायजामा पहने हुआ था, जिसे पहले पीपीई किट बताया जा रहा था। जाँच में यह भी पता चला है कि मामले में लॉजिस्टिक मदद के लिए सचिन वाझे ने गिरफ्तार किए जा चुके कांस्टेबल विनायक शिंदे को 50,000 रुपये दिए थे।

कहा जा रहा है कि विनायक शिंद के माध्यम से वाझे एक ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आया था, जो दक्षिण मुंबई में एक क्लब चलाता था। इस क्लब में जुआरी और सट्टा खेलने वाले आते थे। यहीं उसकी मुलाकात गिरफ्तार किए गए बुकी नरेश गोरे से हुई थी।