समाचार
भारत की जवाबी कार्रवाई, सभी एयरलाइनों से चीनी नागरिकों को देश में न लाने को कहा

भारतीयों को अपने देश में आने से रोकने के चीन द्वारा उठाए गए कदम के प्रतिशोध में भारत ने अनौपचारिक रूप से सभी एयरलाइनों से चीनी नागरिकों को देश में ना लाने के लिए कहा है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, यह गौर किया जाना चाहिए कि इन दोनों देशों के बीच उड़ानें पहले से ही रद्द चल रही हैं। वर्तमान मानदंडों के तहत यात्रा करने योग्य चीनी नागरिक पहले किसी तीसरे राष्ट्र के लिए उड़ान भरते हैं, जिसमें भारत के साथ एक बबल यात्रा की व्यवस्था है। उसके बाद वहाँ से वे भारत पहुँचते हैं। भारत के लिए उड़ान भरने वाले अधिकांश चीनी नागरिकों के बारे में कहा जाता है कि वे यूरोप के सहारे देश में प्रवेश कर रहे हैं।

सरकार ने यह निर्णय तब लिया, जब 3 नवंबर के बाद से भारतीयों के खिलाफ चीनी प्रतिबंध कड़े कर दिए गए हैं। चीन ने तब भारत सहित अन्य देशों से आने वाले विदेशी नागरिकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था। भले ही वे वैध चीनी वीज़ा या निवासी परमिट रखते हों। इस प्रतिबंध में सिर्फ राजनयिकों को छूट दी गई है।

इसके अतिरिक्त, चीन के कई बंदरगाहों पर करीब 1500 भारतीय मल्लाह फंसे हुए हैं क्योंकि चीन ने उन्हें अभी तक तटवर्ती क्षेत्रों में जाने की अनुमति नहीं दी है।