समाचार
इमरान खान ने शिनजियांग प्रांत में उइगर नरसंहार पर चीन के पक्ष को किया स्वीकार

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गुरुवार (1 जुलाई) को कहा कि इस्लामिक गणराज्य ने बीजिंग के साथ अत्यधिक निकटता और संबंधों की वजह से शिनजियांग प्रांत में उइगर मुसलमानों के साथ किए जा रहे व्यवहार पर चीन का पक्ष स्वीकार कर लिया है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, चीनी पत्रकारों से बात करते हुए इमरान खान ने कहा, “उइगर मुद्दे पर चीन के पक्ष की बातें पश्चिमी मीडिया में बताई जा रही बातों से बिल्कुल भिन्न थीं। चीन के साथ हमारी अत्यधिक निकटता और संबंधों के कारण हम वास्तव में चीनी पक्ष को स्वीकार करते हैं।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “यह पाखंड है। विश्व के अन्य हिस्सों में इससे भी बुरी तरह से मानवाधिकार का उल्लंघन हो रहा है लेकिन पश्चिमी मीडिया इस पर शायद ही कोई टिप्पणी करता है।” उन्होंने चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) की प्रशंसा की और इसे पश्चिमी लोकतंत्र का विकल्प बताया।

उन्होंने कहा, “सीपीसी ने एक वैकल्पिक मॉडल पेश किया है। उन्होंने जिस तरह से समाज में अपनी योग्यता को उजागर किया है, उस तरह से सभी पश्चिमी लोकतंत्रों को हरा दिया है।”