समाचार
भारत से सीमा पार गायों की अवैध रूप से तस्करी में आई 96 प्रतिशत की कमी- बांग्लादेश

भारत से बांग्लादेश में अवैध रूप से तस्करी कर लाए जाने वाले मवेशियों की संख्या में 96 प्रतिशत की कमी आई है। बांग्लादेश में मंगलवार को मंत्री अशरफ अली खान की अध्यक्षता में हुई एक अंतर-मंत्रालयी बैठक में यह आँकड़े निकलकर आए हैं।

ढाका ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, बैठक में अधिकारियों ने कहा, “बांग्लादेश ने माँस उत्पादन में आत्मनिर्भरता हासिल कर ली है। इस वजह से पड़ोसी देश भारत और म्यांमार से पशु आयात और जानवरों की हत्या में कमी आई है।”

इससे पूर्व, भारतीय गायों की बांग्लादेश में अवैध रूप से प्रवेश की संख्या सालाना 2.4 से 2.5 मिलियन थी। हालाँकि, 2018 में कथित तौर पर केवल 92,000 गायों को बांग्लादेश भेजा गया था। भारत-बांग्लादेश सीमा पशु तस्करी के लिए जानी जाती है। ईद के त्योहार के दौरान यह तस्करी तेज हो जाती है।

पिछले महीने, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों को कई गाय ऐसी मिलीं, जिनके तस्करों ने विस्फोटक उपकरण (आईईडी) लगा दिए थे। इससे पहले, बीएसएफ के एक जवान ने गाय तस्करों के एक बम हमले में अपना हाथ खो दिया था। सीमा के इस पार बीफ माफिया की वजह से अब तक कई निर्दोष पशु मालिकों को नुकसान पहुँच चुका है।