समाचार
अमेरिका को अनदेखा कर रूस बोला, “तय समय पर भारत को मिलेगी एस-400 मिसाइल”

भारत में मौजूद रूसी राजदूत निकोले कुदाशेव ने बुधवार (14 अप्रैल) को कहा कि रूस तय समय पर भारत को एस-400 रक्षात्मक प्रणाली सिस्टम की आपूर्ति कर देगा। इसमें किसी भी तरह की देरी नहीं की जाएगी। उनका यह बयान तब आया है, जब एस-400 समझौते को लेकर अमेरिका तुर्की से बेहद रुष्ट है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, निकोले कुदाशेव ने संवाददाताओं से कहा, “भारत और रूस के बीच जो समझौता हुआ था, उसको लेकर दोनों ही पक्ष अपने पुराने रुख को लेकर प्रतिबद्ध हैं।” माना जा रहा है कि रक्षात्मक प्रणाली सिस्टम की आपूर्ति रूस इस वर्ष के अंत तक शुरू कर देगा।

रूसी राजदूत ने दोनों देशों के बीच के रिश्ते को लेकर कहा, “दोनों देश एक-दूसरे के लंबे समय से सहयोगी देश रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय मंच पर भी दोनों देश कई मुद्दों पर एकसाथ दिखाई दिए हैं।” वैक्सीन को लेकर उन्होंने कहा, “स्पुतनिक-वी की भारत में अनुमति देना कई मायनों में खास है। यह वैक्सीन सफलता की नई ऊँचाइयाँ छू रही है।” इस दौरान रूस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सीट का भी पुरजोर समर्थन किया।

बता दें कि कुछ समय पहले भारत दौरे पर आए अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन से एस-400 के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा था कि अमेरिका नहीं चाहता कि कोई भी देश रूस के साथ ऐसा समझौता करे। प्रतिबंध के सवाल पर उन्होंने कहा था कि अभी तक भारत में इसकी आपूर्ति नहीं हुई है इसलिए प्रतिबंध का कोई सवाल ही नहीं। अब अगर भारत समझौते पर आगे बढ़ता है तो अमेरिका प्रतिबंध लगा सकता है। वहीं, भारत कई बार कह चुका है कि वह इसकी खरीद देश की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कर रहा है।