समाचार
आईसीएमआर का दावा- कोवैक्सीन कोरोना के कई प्रकारों पर है अधिक असरदार

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने अपने अध्ययन में बुधवार (21 अप्रैल) को कहा कि कोवैक्सीन का टीका कोविड-19 के अधिकतर प्रकार पर अधिक असरदार है। यह वैक्सीन हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक द्वारा बनाई गई है। यह स्वदेश में तैयार हुआ एकमात्र कोरोना का टीका है।

एबीपी की रिपोर्ट के अनुसार, आईसीएमआर ने अपने अध्ययन में दावा किया कि कोवैक्सीन का टीका कोरोना के अलग-अलग प्रकार से लड़ सकता है। ये डबल म्यूटेंट प्रकार से भी लड़ने में  बेहद कारगर है।

आईसीएमआर के राष्ट्रीय जीवाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) ने सार्स-सीओवी-2 वायरस के विभिन्न प्रकारों बी.1.1.7 (ब्रिटेन में मिला प्रकार), बी.1.1.28 (ब्राजील का प्रकार) और बी.1.351 (दक्षिण अफ्रीका का प्रकार) को सफलतापूर्वक अलग किया और संवर्धित किया।

स्वास्थ्य अनुसंधान के निकाय ने कहा, “आईसीएमआर-एनआईवी ने ब्रिटेन और ब्राजील के प्रकार को बेअसर करने की कोवैक्सीन के सामर्थ्य को प्रदर्शित किया। संस्थान दो बार उत्परिवर्तन कर चुके बी.1.617 सार्स-सीओवी-2 प्रकार को भी संवर्धित करने में कामयाब रहा है। वायरस का यह प्रकार भारत के कुछ क्षेत्रों और कई अन्य देशों में पाया गया है।”